कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का उत्तराखंड के पर्यटन पर दिखने लगा है कुप्रभाव

Slider उत्तराखंड

देश मे बढ़ते कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से उत्तराखंड भले ही अब तक अछूता है, मगर राज्य का पर्यटन व्यवसाय इस वैरिएंट से प्रभावित होने लगा है। मसूरी में क्रिसमस और नए वर्ष के जश्न के लिए होटल आदि की बुकिंग अचानक धीमी पड़ गई है। पूछताछ भी बेहद कम हो गई है। पहले से कराई गई बुकिंग को रद कराने का सिलसिला भी शुरू हो गया है।

पहाड़ो की रानी कहे जाने वाला मसूरी उत्तराखंड का सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला पर्यटन स्थल है।खास तौर पर यहां वर्षभर पर्यटकों की आवक बनी रहती है। मगर, कोरोनाकाल में पहले लाकडाउन और फिर कोरोना की दूसरी लहर के कारण एक साल से भी ज्यादा वक्त तक मसूरी का पर्यटन व्यवसाय प्रभावित रहा। अब इस पर कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का ग्रहण लगता नजर आ रहा है।

ओमिक्रोन से इन दिनों पूरी दुनिया में दहशत है। भारत में भी यह वैरिएंट दस्तक दे चुका है। हालांकि, उत्तराखंड इस मोर्चे पर अभी राहत महसूस कर रहा है। यहां अभी तक किसी भी कोरोना संक्रमित में ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि नहीं हुई है। मगर, कोरोना की दूसरी लहर से सबक ले चुके पर्यटक इस बार भ्रमण को लेकर सावधानी बरत रहे हैं।

मसूरी होटल एसोसिएशन के महामंत्री संजय अग्रवाल ने बताया कि शहर में होटल, गेस्ट हाउस और लाज की कुल संख्या 350 के करीब है। इनमें आठ हजार कमरे और 25 हजार पर्यटकों के ठहरने की क्षमता है। अब तक क्रिसमस और नए साल के लिए मसूरी के होटलों में 50 प्रतिशत बुकिंग हो चुकी है। लेकिन, देश में ओमिक्रोन की दस्तक के बाद से बुकिंग में गिरावट आई है। बीते चार-पांच दिन में पूछताछ करने वाले पर्यटकों की संख्या भी कम हुई है। कई पर्यटक तो ऐसे भी हैं, जिन्होंने अपनी बुकिंग रद करा दी है।

उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने बताया कि पूछताछ व बुकिंग लगभग थम गई है। अब तक 15 से 20 प्रतिशत बुकिंग रद हो चुकी हैं। इससे होटल और पर्यटन से जुड़े व्यवसायियों में निराशा का माहौल है। बीता वीकेंड पर्यटन के लिहाज से अच्छा रहा था, लेकिन अब डेली बुकिंग भी प्रभावित हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.