बुजुर्गों के लिए जीवनदायिनी बनी आयुष्मान योजना

Slider उत्तराखंड सरकारी योजना

देहरादून: उत्तराखण्ड राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा संचालित आयुष्मान योजना बीमारियों से परेशान सीनियर सिटीजन को स्वस्थ जीवन प्रदान कर रही है। अब तक 75 हजार से अधिक बार वरिष्ठ नागरिक योजना का लाभ उठाकर रूग्णता पराजित कर स्वस्थ हो चुके हैं। अंतराष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस पर प्राधिकरण के यह आंकड़े सुकून देने वाले हैं। इस उपचार पर राज्य सरकार 01अरब 11 करोड़ से अधिक की धनराशि खर्च कर चुकी है।

प्रदेश में चल रही आयुष्मान योजना बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। बड़ी तादाद में लोग इस योजना का लाभ उठाकर गंभीर और खर्चीली बीमारियों से मुफ्त में निजात पा रहे हैं। योजना के तहत सरकार ने आयुष्मान कार्ड पर ₹ 5 लाख प्रति परिवार तक का उपचार मुफ्त में करने की व्यवस्था की है।

आज अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस है। इस खास अवसर पर वरिष्ठ नागरिकों को लेकर आयुष्मान योजना संचालित करने वाले राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण से आए आंकड़े सुकून देने वाले हैं।
राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण से प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश भर में 60 से 103 वर्ष तक के वरिष्ठ नागरिक 75000 से अधिक बार आयुष्मान योजना के तहत बगैर कोई नया पैसा खर्च किए अपना उपचार करा चुके हैं। अपने सीनियर सिटीजन को स्वस्थ जीवन प्रदान करने के लिए सरकार ने अब तक प1अरब, 11 करोड़ से अधिक की धनराशि खर्च की है। इस राशि से वरिष्ठ नागरिकों ने कई गंभीर और जानलेवा बीमारियों पर जीत हासिल की है। उपचार के बाद सीनियर सिटीजन स्वस्थ और सम्मान का जीवन जीने लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.