कांग्रेस में टिकटों के चयन को लेकर आम सहमति नहीं बन पाई

Slider उत्तराखंड

विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों के चयन के लिए कांग्रेस केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में 70 विधानसभा सीटों पर सहमति नहीं बन पाई है। बैठक में स्क्रीनिंग कमेटी से भेजे गए 45 नामों पर तो सहमति बन गई लेकिन 25 नामों पर सभी नेता एक राय नहीं थे। जिसके बाद केंद्रीय चुनाव समिति ने स्क्रीनिंग कमेटी को फिर से हर सीट पर होमवर्क पूरा करके अपनी रिपोर्ट देने के लिए कहा है।
शनिवार को दिल्ली में करीब शाम 5:00 बजे केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शुरू हुई । यह बैठक रात 10:30 बजे तक चली लेकिन फिर भी 25 सीटों पर सभी नेताओं की एक राय नहीं हो सकी। हालांकि इतना साफ है कि पार्टी ने कई नेताओं को चुनाव में जुटने के लिए कह दिया है जल्द उनकी लिस्ट भी जारी कर दी जाएगी लेकिन जो मामले फसे हैं वो गले की फांस बनते जा रहे हैं ।
कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति में अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा राहुल गांधी, डॉक्टर मनमोहन सिंह, एके एंटोनी, अंबिका सोनी ,मोहसिना किदवई ,वीरप्पा मोइली, मुकुल वासनिक, गिरजा व्यास, केसी वेणुगोपाल, उत्तराखंड के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव जुड़े थे।
कांग्रेस की सूची में अभी हरिद्वार की 11 में से 5 सीटों पर स्थिति साफ नहीं है । जिनमें हरिद्वार शहर, बीएचईएल रानीपुर, रुड़की ,खानपुर और हरिद्वार ग्रामीण सीट शामिल है
वही देहरादून जनपद की 10 में से 6 सीटों पर घमासान हो रहा है। देहरादून में मसूरी और ऋषिकेश में दो से तीन मजबूत दावेदार हैं। रायपुर और डोईवाला सीट के बारे में बताया जा रहा है कि पार्टी यहां अंतिम समय में ही निर्णय लेगी। ऐसा माना जा रहा है कि कुछ बागियों की भी वापसी हो सकती है , वहीं सहसपुर ने दोनों खेमो के लिए नाक का सवाल बन गई है वहाँ एक खेमा आयेंद्र को टिकट देने की पुरजोर पैरवी कर रहा था तो हरीश रावत नहीं चाहते आयेंद्र को टिकट मिले ऐसे में सहसपुर भी अभी फसी है ।
कुमाऊं में भी अभी कई सीटों पर पार्टी की एक राय नहीं है । डीडीहाट, बागेश्वर, सल्ट, सोमेश्वर, भीमताल, कालाढूंगी, काशीपुर, गदरपुर और सितारगंज में सभी नेताओं में एक राय बनाने की कोशिश की जा रही है

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को लेकर भी अभी पार्टी में स्थिति साफ नहीं है । पहले टिहरी में किशोर उपाध्याय का टिकट पक्का माना जा रहा था लेकिन कांग्रेस के द्वारा हुई कार्रवाई के बाद अभी स्थिति साफ नहीं है कि वहां पर क्या होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.