राज्यपाल ने विद्यालय के 120 शिक्षकों एवं कार्मिकों को सम्मानित किया

Slider उत्तराखंड रोजगार / शिक्षा

राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने मंगलवार को सेंट जोसेफ अकादमी में शिक्षक दिवस के अवसर पर आयोजित शिक्षक सम्मान कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने विद्यालय के 120 शिक्षकों एवं कार्मिकों को सम्मानित किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ0 सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, महान शिक्षक, प्रख्यात शिक्षाविद् तथा महान दार्शनिक थे। उन्हीं की याद में हर वर्ष शिक्षक दिवस मनाने की परंपरा आरंभ हुई, जिसका उद्देश्य शिक्षकों के महत्व को बताना तथा उन्हें सम्मान देना है।
राज्यपाल ने कहा कि शिक्षक एक व्यक्ति के चरित्र, क्षमता और भविष्य को संवारते है। महान यूनानी दाशर्निक अरस्तू के अनुसार ‘‘जो लोग बच्चों को अच्छी शिक्षा देते हैं, वे उन लोगों के मुकाबले में अधिक सम्मान के हकदार हैं जो उन्हें पैदा करते हैं।’’
राज्यपाल ने कहा कि 35 वर्षों के उपरांत 2020 में भारत सरकार द्वारा देश में नई शिक्षा नीति लायी गई है। इस नीति को प्रभावी रूप से लागू करने के लिये शिक्षण संस्थानों को प्रभावी भूमिका निभानी होगी। नई शिक्षा नीति शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर सिद्ध होगी।
राज्यपाल ने कहा कि शिक्षक विद्यार्थियों का उचित मार्गदर्शन कर एक अच्छे समाज का निर्माण करता है। मुझे आशा है कि आप सब शिक्षकगण विद्यालय के ध्येय वाक्य ‘कर्म ही पूजा है’, को सार्थक करते हुए विद्यार्थियों को अच्छे संस्कार और मानवीय मूल्य देंगे।
इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री जयसीलन, उप प्रधानाचार्य, कम्यूनिटी हेड एवं समस्त शिक्षकगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.