Special video Report : इगास की छुट्टी का धमाल , इगास- बग्वाल पर्व को लेकर मुख्यमंत्री धामी की धूम तो पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी इगास मनाने पहुंचे जनता के बीच

Slider Video उत्तराखंड राजनीति

#देहरादून :

उत्तराखंड में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज होती दिखाई दे रही है , कुछ ही दिनों पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री पर इगास की छुट्टी को लेकर तंज कसा था ।

अब जनता के बीच बीते रविवार को इगास मनाने पहुचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और पूर्व हरीश रावत के बीच पहाड़ी त्योहार को मनाने की होड़ दिखाई दे रही है, जिसे जनता की पूरी सहानुभूति चुनाव में दोनों दलों को जनता की और से मिल सके । उत्तराखंड में ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि पर्व के नाम पर सरकारों ने जनता की सहानुभूति के लिए छुट्टी न दी हो , जहां पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने कार्यकाल में शुक्रवार को नमाज पढ़ने के लिए समय की छूट दी थी तो वही पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने छट पूजा की छुट्टी का एलान किया था जिसके बाद वे सोशल मीडिया में काफी ट्रोल भी हुए थे अब युवा मुख्यमंत्री ने पहाड़ियों का त्योहार इगास ( बूढ़ी दीवाली ) की छुट्टी कर प्रदेश में पहाड़ीयों का दिल जीतने की भरपूर कोशिश की है बस इसका कितना फायदा मुख्यमंत्री भाजपा को दे सकेंगे ये 2022 के चुनावी नतीजों से ही पता लग पायेगा ।

 

इगास मनाने पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी देर रात रिंग रोड लाडपुर में आयोजित राज्य के लोक पर्व इगास बग्वाल (बूढ़ी दीपावली) कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सभी को इगास की बधाई देते हुए कहा कि हमारी लोक परम्परा देवभूमि की संस्कृति की पहचान है। उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य की लोक संस्कृति एवं लोक परम्परा उस राज्य की आत्मा होती है, इसमें इगास का पर्व भी शामिल है। उन्होंने कहा कि हम राज्य की लोक संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये संकल्पबद्ध है। उन्होंने कहा कि अपनी लोक संस्कृति को बढ़ावा देने के लिये हम प्रयासरत है। हमारी युवा पीढ़ी अपनी लोक संस्कृति एवं लोक पर्वों से जुड़े इसके भी प्रयास होने चाहिए। उन्होंने कहा कि इगास बग्वाल से कई एतिहासिक पहलु भी जुड़े हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने लोक पर्वो के माध्यम से अपनी संस्कृति को संरक्षित करने तथा प्रकृति के संरक्षण की भी हमारी परम्परा है।

रविवार को ढालवाला मुनि की रेती, ऋषिकेश में इगास पर्व के कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शिरकत की व उन्होने भैलो खेला एवं इस शुभ अवसर पर क्षेत्रवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस दौरान कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.